ट्रेन रोकने जा रहे कांग्रेसी नेता गिरफ्तार व रिहा ; पूर्व केंद्रीय मंत्री व जिलाध्यक्ष किये गए नजरबंद

द न्यूज यूनिवर्स

झाँसी

18 फ़रवरी


सरकार ने किसानों के प्रति तानाशाही रवैया अपनाए: प्रदीप जैन आदित्य
ट्रेन रोकने जा रहे कांग्रेसी नेता गिरफ्तार, रिहा
पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य और कांग्रेस के जिलाध्यक्ष भगवान दास कोरी को हॉउस अरेस्ट किया गया ,
कांग्रेस ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को दिया
झाँसी। कांग्रेस द्वारा किसानों के समर्थन में रेल रोको आंदोलन के तहत तय रणनीति के अनुसार पूर्व मंत्री प्रदीप जैन आदित्य के नेतृत्व में पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष मनीराम कुशवाहा के साथ कार्यकर्ता शताब्दी एक्सप्रेस रोकने के पूर्व मंत्री के आवास पर एकत्रित होकर स्टेशन के लिए रवाना हो रहे थे। तभी वहां उपस्थित पुलिस प्रशासन ने उन्हें रोक लिया गया। काफी जद्दोजहद के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य एवं कांग्रेस जन इस बात पर सहमत हुए कि सरकार की ज्यादती के विरोध में ज्ञापन देंगे। पुलिस प्रशासन सभी को लेकर शहर कांग्रेस कमेटी झांसी के अध्यक्ष अरविंद वशिष्ठ के आवास पर पर पहुंचा। जहां पर अन्य कांग्रेसजन एवं भारी पुलिस बल मौजूद था । वहीं कांग्रेस के जिलाध्यक्ष भगवान दास कोरी को पुलिस ने रानीपुर में उनके आवास पर हॉउस अरेस्ट कर लिया । जिलाध्यक्ष को घर मे नजरबंद करने की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में कांग्रेसी उनके घर पहुंच गए और पुलिस की कार्यवाही का विरोध किया । इस अवसर पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष भगवान दास कोरी ने प्रदेश व केंद्र सरकार पर तानाशाही रवैया अपनाने व लोकतंत्र का गला घोंटने का आरोप लगाया ।उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार का किसान ,मजदूर ,गरीब ,विरोधी चेहरा उजागर हो गया है । दोनों सरकार हर मोर्चे पर फैल है ।


इस अवसर पर शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अरविंद वशिष्ठ के नेतृत्व में प्रशासन की ओर से पहुंचे एसडीएम को राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन दिया। ज्ञापन के माध्यम से कृषि से संबंधित काले कानूनों को वापस लिए जाने की मांग की।
इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने कहा कि सरकार किसानों के प्रति तानाशाही रवैया अपनाए हुए हैं और लगातार उनका अपमान करते हुए आंदोलन को अनदेखा कर रही है जबकि आंदोलन पूरे देश में जोर पकड़ता जा रहा है। आम जनमानस की भावनाएं किसानों के साथ हैं सरकार को यह काले कानून वापस लेना चाहिए। कांग्रेस किसानों के इस आंदोलन में उनके साथ खड़ी है।
शहर कांग्रेस अध्यक्ष अरविंद वशिष्ठ ने कहा कि सरकार की दमनकारी नीतियों के चलते किसानों को रोकने के लिए सड़कों पर कीले लगा रही है। उन्होंने कहा कि जो काम सरकार को सीमा पर करना चाहिए वह अन्य दाताओं को रोकने के लिए कर रही है। जोकि दुर्भाग्यपूर्ण है सरकार के इस कदम का कांग्रेस पुरजोर विरोध करती है।
वहीं दूसरी ओर युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव जैन एवं प्रदेश महासचिव दीपक शिवहरे के नेतृत्व युवा कांग्रेस द्वारा झाँसी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रोकने जाते समय उत्तर प्रदेश पुलिस व रेलवे पुलिस ने उन्हें गेट के बाहर ही रोक दिया गया। तभी पुलिस और कार्यकर्ताओ की झड़प हुई। बाद में दीपक शिवहरे और उनके साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और नवाबाद थाना लाया गया। इसकी खबर मिलने पर कांग्रेस के नेताओं ने नवाबाद पहुंच कर उन्हें छुड़ावाया। उनको 3 घंटे बाद रिहा किया गया । मौके पर गौरव जैन, प्रदुम्न ठाकुर, शेखर नलवंशी, युवराज यादव, समीर, राजकुमार, आनंद, अभिषेक,प्रदुम्न आदि उपस्थित रहे। इस अवसर पर राजेंद्र रेजा, पूर्व अध्यक्ष इम्तियाज हुसैन, राजेंद्र शर्मा, भरत राय, अफजाल हुसैन,किश्वर जहां सिद्दीकी मुन्नी देवी अहिरवार,मीना आर्य, अखलाक मकरानी, अमीरचंद आर्य, गिरजा शंकर राय, जितेंद्र भदोरिया, सचिन श्रीवास, किशन करोशिया, नरेंद्र जतारिया, सुनील राय ऋषभ साहू, हजरत खान, जाहिद अली, धर्मेंद्र कुशवाहा, युवराज सिंह यादव, प्रदुम्न सिंह, मनीष राय कवार सहित सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

फोटो….3.
गौरीशंकर विदुआ को भी किया था नजरबंद

किसान रक्षा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरीशंकर विदुआ को जिला प्रशासन ने घर में ही नजरबंद कर लिया। किसान नेता ने निंदा की है और शासन प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि किसानों की आवाज को जबरदस्ती किसी भी कीमत पर नहीं दबाया जा सकता है ना ही किसानों की आवाज को दबने दिया जाएगा जब तक तीनों कृषि कानून वापस नहीं होंगे किसानों का आंदोलन जारी रहेगा सिर्फ बुंदेलखंड में किसानों को दबाने से सरकार अपना ही नुकसान कर रही है।