झाँसी मंडल रेलवे : टीकमगढ़ स्टेशन से हुई माल लदान की शुरुआत ; अन्य समाचार

द न्यूज यूनिवर्स

झाँसी

10 जनवरी

नए साल पर झाँसी मंडल के टीकमगढ़ स्टेशन से माल लदान की शुरुआत
झाँसी। झाँसी मंडल माल लदान क्षेत्र में नयी नयी संभावनाओं को तलाशते हुए माल लदान के माध्यम से सर्वाधिक राजस्व अर्जित करने के उद्द्देश्य से उपलब्धियों की नई सीढि़यां चढ़ता जा रहा है । इसी क्रम में आज 10 जनवरी 21 को टीकमगढ़ स्टेशन से 21 बीसीएन के एक रैक  के साथ टीकमगढ़ माल गोदाम से लदान की शुरुवात हुई।  21 डब्बों का यह रैक टीकमगढ़ से सालेम मार्किट हेतु लदान किया गया, जिसकी कुल दूरी 2018 किमी है तथा उक्त लदान से लगभग रु.32 लाख का राजस्व मंडल को प्राप्त हुआ। व्यापारियों के अनुरोध पर सांसद टीकमगढ़ वीरेंद्र कुमार सांसद इस सुअवसर पर उपस्थित रहे। टीकमगढ़ माल गोदाम से यह पहला रैक 11 घंटे में पूरा लोड कर दिया गया।
मंडल की यह उपलब्धि इस संदर्भ में और अधिक उल्लेखनीय हो जाती है कि इस मंडल रेल के परिधि में रेलवे की माल लदान में मुख्यतः योगदान करने वाले प्राकृतिक संसाधन जैसे कोयला या लौह अयस्के आदि नही पाये जाते हैं। मंडल रेल प्रबंधक संदीप माथुर के मार्गदर्शन तथा वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक नवीन दीक्षित के नेतृत्व व सक्रिय प्रयासों का ही प्रतिफल है कि टीकमगढ़ क्षेत्र के व्यापारियों द्वारा प्रेरित होकर माल लदान की शुरुवात  की है । झाँसी मंडल का माल लदान में नए आयामों को स्पर्श करना एक अच्छा संकेत है एवं यह दिखाता है कि अत्य्धिक प्रतिस्पर्धा वाले इस सेगमेंट में झाँसी मंडल प्रगति की ओर अग्रसर है।
——-
विस्फोटक प्रकरण: मनमोहन समेत दो गए जेल
शेष आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए गठित की गई टीम
आरोपी घरों से चल रहे हैं फरार, मोबाइल फोन स्वीच ऑफ
झाँसी। कोतवाली थाना क्षेत्र के अंजनी माता मंदिर के पास किए गए विस्फोट के मामले को शासन ने गंभीरता से लिया है। शासन के निर्देश पर पुलिस और प्रशासन की टीम ने कार्रवाई तेज कर दी है। इसी के मद्देनजर पहले गिरफ्तार किए गए दो आरोपियों को अदालत में पेश किया। वहां से उनको जेल भेजा गया। जबकि शेष आरोपियों की तलाश करने के लिए टीम गठित की गई। हालांकि विस्फोट करने वाले व्यक्ति के पुत्र को हिरासत में ले लिया है। कड़ाई से पूछताछ कर पिता अतर सिंह की जानकारी ली जा रही है।
मालूम हो कि कोतवाली थाना के उन्नाव गेट चौकी प्रभारी महाराज सिंह ने प्रशासनिक व खनिज विभाग के अफसरों को एक पत्र लिखा था। पत्र में कहा गया था कि कोतवाली थाना क्षेत्र के अंजनी माता मंदिर के आगे पंचवटी कालोनी राईन कब्रिस्तान के पास इतवारी गंज निवासी अजय कुमार यादव, अविनाश उर्फ अड्डू यादव,  कैलाश रेजीडेन्सी के पास रहने वाले मनमोहन सिंह यादव, उन्नाव गेट पंचवटी कालोनी निवासी नत्थू कुशवाहा, टकसाल मोहल्ले में रहने वाला दिलीप पांडेय द्वारा अवैध रुप से बिना अनुमति के विस्फोटक लगाकर पत्थर तोड़ा गया था। इस पत्र को जिलाधिकारी आंद्रा वामसी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने गंभीरता से लिया और खनिज विभाग के अफसरों को जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। इन निर्देशों के तहत खनिज विभाग, नगर मजिस्ट्रेट, सीओ सिटी व अन्य अफसर मौके पर पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान खनिज विभाग ने पाया था कि बिना अनुमति अवैध रुप से इमारती पत्थर ब्लास्टिंग कर तोड़ा गया था. जिसकी पैमाइश करने पर 24 घनमीटर इमारती पत्थर का अवैध खनन पाया गया था। इसकी रायल्टी 125 रुपये की दर से 125×24  3000 तथा खनिज मूल्य रायल्टी का पांच गुना 3000x 515000 कुल 18000 रुपये की राजकीय क्षति के साथ विस्फोटक नियमों का उल्लंघन किया गया। बिना अनुमति इमारती पत्थर की अवैध खनन उत्तर प्रदेश उपखनिज परिहार नियमावली 1963 के नियम 3,57 व 70 का उल्लंघन खान एवं खनिज (विकास एवं विनियमन) अधिनियम 1957 की धारा 4/21 एवं लोक सम्पत्ति क्षति निवारण अधिनियम के अनुसार संज्ञेय दंडनीय अपराध है। इस मामले में खान निरीक्षक राघवेन्द्र सिंह की तहरीर पर अजय कुमार यादव, मनमोहन सिंह यादव, अविनाश उर्फ अड्डू यादव, रवीश, नत्थू कुशवाहा और दिलीप पांडेय के खिलाफ दफा 4/21 खान एवं खनिज अधिनियम, 3/4 सार्वजनिक संपत्ति नुकसान अधिनियम व 3/5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया था। इस मामले में पुलिस ने मनमोहन सिंह यादव और अजय कुमार यादव को हिरासत में ले लिया। गिरफ्तार कर दोनों को अदालत में पेश किया। वहां से उनको जेल भेजा गया। इस मामले की गोपनीय तरीके से अभी जांच जारी है।