बुंदेलखंड के वरिष्ठ साहित्यिक पत्रकार वीरेन्द्र शर्मा कौशिक का निधन,गहरा शोक व्यक्त किया गया

द न्यूज यूनिवर्स डेस्क

मऊरानीपुर

27 सितंबर

मऊरानीपुर ( झाँसी) नगर के गणमान्य नागरिक एवं बुंदेलखंड के वरिष्ठ साहित्यिक पत्रकार वीरेंद्र शर्मा कौशिक का गत दिवस छतरपुर में निधन हो गया । वह 87 वर्ष के थे । साहित्य एवं संस्कृति कर्मियों ,सामाजिक कार्यकर्ताओं ,कलम जीवियों में दादा नाम से लोकप्रिय वीरेंद्र शर्मा अंतिम समय तक चैतन्य रहे । उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया गया ।
मऊरानीपुर के मुहल्ला कुरैचा नाका में जन्मे वीरेंद्र शर्मा के पिता हरप्रसाद शर्मा नगर के प्रतिष्ठित शिक्षक रहे । श्री शर्मा के अनुज ज्ञानेंद्र शर्मा प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार ,संपादक एवं प्रदेश के मुख्य सूचना आयुक्त रहे वहीं उनके ज्येष्ठ पुत्र विभूति शर्मा नई दुनिया समाचार पत्र के संपादक रहे , उनके भतीजे आशीष कौशिक मऊरानीपुर के प्रमुख समाजसेवी हैं , वह कुछ समय से अपने छोटे पुत्र वीणेश शर्मा एडवोकेट के पास छतरपुर में रह रहे थे । वीरेंद्र शर्मा कौशिक ने पत्रकारिता का डिप्लोमा हैदराबाद की उस्मानिया विश्वविद्यालय से वर्ष 1958 किया और बड़े साहित्यकारों व प्रख्यात पत्रकारों के साथ काम किया । अध्यापन कार्य करते हुये भी साहित्यिक व सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड़े रहे । उनके आलेख देश की विभिन्न पत्रिकाओं में प्रकाशित होते रहे । बुंदेलखंड की लोककलाओं ,संस्कृति व साहित्य व लोकजीवन पर उनके कई लेख प्रकाशित हुये ।
मऊरानीपुर की प्रमुख व सांस्कृतिक संस्था अनामिका साहित्य परिषद के वह संस्थापक सदस्यों में थे ।
नगर में वरिष्ठ साहित्यिक पत्रकार वीरेंद्र शर्मा कौशिक के निधन पर विभिन्न संस्थाओं व गणमान्य व्यक्तियों ,पत्रकारों ,कवियों व साहित्यकारों ने शोक सभाओं में गहरा शोक व्यक्त किया व दिवंगत आत्मा की शांति हेतु मौन रख कर ईश्वर से प्रार्थना की ।