एटीएम हैक कर पैसे उड़ाने वाले दो आरोपी पकड़े गए

द न्यूज़ यूनिवर्स

झाँसी

9 अक्टूबर


एटीएम को हैक कर उड़ा रहे हैं पैसा, पकड़े गए दो युवक
तीन मोबाइल फोन, 55 विभिन्न बैंक के एटीएम कार्ड व 20 हजार कैश बरामद 
झाँसी। कोतवाली पुलिस ने एक ऐसा गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो एटीएम को हैक करके लोगों का पैसा उड़ा रहे थे। इनके पास से मोबाइल फोन के अलावा विभिन्न बैंक के एटीएम कार्ड व कैश बरामद किया है। यह गिरोह झाँसी में काफी दिनों से घटना को अंजाम दे रहे थे। इसी गिरोह के सदस्य पहले कानपुर में भी पकड़े गए हैं। गिरफ्तार किए गए आरोपियों को अदालत में पेश किया। वहां से उनको जेल भेजा गया।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ ओ पी सिंह, एसपी सिटी श्रीप्रकाश द्विवेदी के निर्देशन में कोतवाल देवेन्द्र कुमार द्विवेदी, इंस्पेक्टर रवीन्द्र कुमार त्रिपाठी, नईबस्ती चौकी प्रभारी प्रमोद कुमार तिवारी, उपनिरीक्षक रामशंकर कटियार, कांस्टेबल कौशलेन्द्र सिंह व कांस्टेबल गोविन्द सिंह एटीएम मशीन हैक कर बैंकों को लाखों की चपत लगाने वाले हैंकरों की तलाश में लगे हुए थे। सूचना निवासी आतियां तालाब के पास स्थित सैन्य समाज मंदिर के पास बैंक ऑफ बड़ौदा एटीएम के पास दो युवक खड़े हैं। वह एटीएम हैक करने का प्लान बना रहे हैं। इस सूचना पर गई टीम ने घेराबंदी कर शारदा हिल्स कालोनी के पास दोनों को पकड़ लिया। थाना लाकर गहराई से पूछताछ की। पूछताछ के दौरान उन्होंने एटीएम मशीन हैक करने की बात स्वीकार की है। पुलिस के मुताबिक कानपुर देहात के थाना सट्टी के ग्राम महकापुर निवासी लाल सिंह यादव व रोहित कुमार यादव को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से तीन मोबाइल फोन, विभिन्न बैंकों के 55 एटीएम कार्ड व 55 हजार कैश बरामद किया गया। 

ऐसे करते हैं हैंक
पकड़े गए एटीएम हैकरों ने बताया कि वे लोग एटीएम मशीन में जाकर एटीएम से पैसा निकालने की प्रक्रिया शुरु करते थे और जैसे ही मशीन से पैसे गिनती करती थी आती थी। वह कैंसिल का बटन दबा देते थे और रकम निकालने वाली जगह पर हाथ फंसा देते थे जिससे रकम तो बाहर आ जाती थी लेकिन लेनदेन कारण रद्द हो जाता था और पैसा अकाउंट में वापस डेबिट हो जाता था।

कैसे बचें एटीएम फ्रॉड से
पुलिस के मुताबिक  रेग्यूलर चेक करें अपना बैंक बैलेंस। मोबाइल बैंकिंग और अलर्ट्स से जुड़े रहें। एटीएम में पिन डालते समय हाथ से अपना पासवर्ड छुपाएं। रूम में लगे माइक्रो-कैमरा आपका पासवर्ड चुरा सकते हैं। पहचाने एटीएम से करें ट्रांजेक्शन। इससे आप मशीन में चोरी के लिए हुए थोड़े से बदलाव को भी समझ जाएंगे। बैंक ब्रांच में लगे एटीएम का ही अधिकतर यूज करें। ये ज्यादा सेफ होते हैं। एटीएम कार्ड यूज करते समय किसी भी अनजान व्यक्ति की मदद न लें। बैंक अधिकारी से संपर्क करें। कार्ड मशीन में फंस जाने की स्थिति में अपने मोबाइल से बैंक कस्टमर केयर को सूचित करें। कार्ड वहीं छोड़कर न जाएं। ध्यान रखें कि एटीएम कार्ड यूज करते समय रूम में आपके अलावा कोई भी न हो। एटीएम कार्ड का पिन किसी से भी शेयर न करें। कार्ड का पिन चूज करते समय सावधान रहें। बर्थडे, मोबाइल नंबर जैसे कॉमन पासवर्ड न लगाएं।