द न्यूज़ यूनिवर्स

झाँसी

9 सितंबर


पत्रकारों पर हो रहे उत्पीड़न का मामला
मुंह में काली पट्टी बांधकर किया संयुक्त मीडिया क्लब ने जोरदार प्रदर्शन
झाँसी। यह बात किसी से छिपी नहीं है कि वर्तमान सरकार के राज में यूपी के हर जिले में पत्रकारों को जेल भेजने या पत्रकारों के खिलाफ मुकदमा लिखने की घटनाएं तेज हो गई हैं। नोएडा, मिर्जापुर, बिजनौर के बाद अब आजमगढ़ से सूचना है कि यहां पत्रकार को पुलिस वालों ने इसलिए जेल भेज दिया क्योंकि उसने कभी इंस्पेक्टर के खिलाफ एक खबर छाप दी थी। पत्रकारों पर हो रहे लगातार उत्पीड़न के विरोध में संयुक्त मीडिया क्लब के बैनर तले सोमवार को एक आंदोलन का आयोजन किया गया। इस आंदोलन की अध्यक्षता राम नरेश यादव ने की। इस आंदोलन में जिले भर से सैकड़ों की तादात में पत्रकार इकट्ठे हुए और और मुंह में काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया।


पत्रकारों पर हो रहे उत्पीड़न में सरकार की गलत मंशा को देखते हुए बड़ी तादात में समाज सेवी संस्थाओं और राजनीतिक दलों ने समर्थन दिया। पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने पत्रकारों का समर्थन करते हुए सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने की चेतावनी दी। वहीं, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य डॉ. चंद्रपाल सिंह यादव ने सरकार के पत्रकारों के खिलाफ गलत रवैया की निंदा की। उन्होंने पत्रकारों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर इस आंदोलन को सफल बनाने का भरोसा भी जताया। समाजवादी पार्टी के युवा नेता वीरेंद्र प्रताप सिंह और अनिल यादव भिटौरा ने भी अपने-अपने विचार रखे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजेंद्र सिंह भी जमकर गरजे। बुंदेलखंड आंदोलन के नेता भानु सहाय, किसानों के नेता गौरीशंकर विदुआ, भारतीय प्रजाशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज रावत और समाज सेवी संस्था के ध्रुव सिंह यादव सहित वकील, डॉक्टर और कई निगमों के पदाधिकारी भी धरने पर बैठ गए और पत्रकारों का समर्थन किया। 
आंदोलन के दौरान पत्रकारों, नेताओं और समाजसेवी संस्थाओं ने अपने-अपने विचार रखें। फिल्मी दुनिया में अपना नाम कमाने वाले एक्टर आरिफ शहडोली ने भी पत्रकारों के समर्थन में अपने विचार रखें। आंदोलन स्थल पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट और एसपी सिटी को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन के माध्यम से सरकार को चेतावनी दी गई कि यदि मिर्जापुर डीएम को बर्खास्त नहीं किया गया और पत्रकारों पर लिखे गए फर्जी मुकदमे वापस नहीं लिए गए तो यह आंदोलन उग्र रूप ले लेगा। इस आंदोलन को बहुजन समाज पार्टी के नेता जुगल किशोर कुशवाहा, देवी सिंह कुशवाहा कॉन्ग्रेस और परमानंद कुशवाहा समाजवादी पार्टी ने भी समर्थन दिया। 

समर्थन समर्थन देने वाली संस्थाएं
राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन, बुंदेलखंड वेलफेयर सोसाइटी, यादव महासभा झांसी, दिनेश भार्गव बुंदेलखंड मुक्ति मोर्चा, बुंदेलखंड निर्माण मोर्चा, श्रमिक कल्याण समिति, बड़ा बाजार व्यापार मंडल, रेलवे कुली यूनियन, बुंदेलखंड इंसाफ सेना, राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संस्थाओं ने अपना समर्थन दिया।

ये सदस्य रहे मौजूद
आंदोलन में शामिल संयुक्त मीडिया क्लब के पदाधिकारी महासचिव दीपक चंदेल, उपाध्यक्ष पुष्पेंद्र यादव, संगठन मंत्री बीके कुशवाहा, आय-व्यय निरीक्षक अश्विनी मिश्रा, सचिव दीपक जौहरी, कानून मंत्री अमित गोयल, विधि सलाहकार संजय गुप्ता, मीडिया प्रभारी प्रभात सक्सेना, कोषाध्यक्ष मनीष श्रीवास्तव, प्रदेश अध्यक्ष मदन यादव, बुंदेलखंड प्रभारी बालेंद्र गुप्ता, जिला अध्यक्ष प्रमोद गौतम, वरिष्ठ पत्रकार विनोद गौतम, कुलदीप अवस्थी, सूरज सिंह यादव, शीतल प्रसाद तिवारी, दिलीप यादव, महानगर अध्यक्ष मो. इमरान खान, डिजिटल मीडिया प्रभारी रोहित कुमार, सचिन मिश्रा, मो. शहजाद, अंसार सिद्दीकी, असलम खान, वसीम, विवेक, दुर्गा और अमित यादव,सत्येंद्र,  बालमुकुंद, भूपेन्द्र रायकवार, राजकुमार, अशोक सरवरिया मौजूद रहे।
वहीं, ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष डॉ बीवी गौर को और जिला बरिष्ठ उपाध्यक्ष गुर्जर महेंद्र नागर, संगठन के सदस्य धीरेन्द्र रायकवार, इकबाल अहमद, ब्लाॅक अध्यक्ष अरविन्द्र श्रीवास, रहीश यादव, मृदुल पांडे, यशपाल सिंह और रवि गौतम ने मोठ और समथर क्षेत्र से आकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। गरौठा क्षेत्र से शशिकांत तिवारी, राजेन्द्र बुंदेला, रामपाल सिंह यदुवंशी, राजेश परिहार और बालादीन राठौर मौजूद रहे। रक्सा से अनिल पुनावली, सुनील व मऊरानीपुर से रवि परिहार, देवेन्द्र चतुर्वेदी, प्रमोद चतुर्वेदी, बृजकिशोर झा, फिरोज अली समेत कई पत्रकार मौजूद रहे।
———–

भौगोलिक क्षेत्र में किसी भी तरह का बदलाव स्वीकार नही
झाँसी। बुंदेलखंड निर्माण मोर्चा द्वारा मोर्चा अध्यक्ष भानू सहाय के नेतृत्व में प्रधानमंत्री  को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से भेंट किया गया। ज्ञापन में कहा गया कि  दैनिक समाचार पत्र आज में प्रकाशित समाचार (सलंग्न) का अवलोकन कर समीक्षा करने की कृपा करें।
उत्तर प्रदेश सरकार ने जनपद झाँसी, ललितपुर, जालौन, बाँदा, हमीरपुर, चित्रकूट एवं महोबा को मिलाकर बुन्देलखंड विकास बोर्ड का गठन किया है। मध्यप्रदेश सरकार ने जनपद सागर, दमोह, छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, दतिया एवं निवाड़ी को मिलाकर बुन्देलखंड विकास प्राधिकरण का गठन किया है। उत्तर प्रदेश सरकार एवं मध्यप्रदेश सरकार ने जिन क्षेत्रों को बुंदेलखंड क्ष्रेत्र जी मान्यता प्रदान की है उसी क्षेत्र को बुंदेलखंड मान कर केंद्र सरकार ने बुन्देलखंड की मान्यता प्रदान कर बुंदेलखंड विकास पैकेज दिया है।
बुंदेलखंड राज्य निर्माण समर्थक संघटन इसके अतिरिक्त कटनी, गंज बासौदा, लहार, पिछोर, करेरा, चंदेरी, चित्रकूट क्षेत्र आदि और जोड़े जाने की मांग कर अखंड बुंदेलखंड राज्य निर्माण के लिये आंदोलनरत है। ज्ञापन में कहा गया कि  एक दैनिक समाचार पत्र में वर्णित क्षेत्र पर आदि सरकार कार्य कर रही है तो आप मान्यवर को बताना चाहते है कि बुंदेलखंड वासियो को कदापि स्वीकार नही है। ज्ञापन में कहा गया कि   जिस क्षेत्र को उत्तर प्रदेश सरकार, मध्य प्रदेश सरकार एवं केंद्र सरकार ने बुंदेलखंड की मान्यता प्रदान की है उसमें  कुछ और क्षेत्र जोड़े जाने की मांग को लेकर हम बुंदेलखंडवासी संघर्षरत है किसी भी अन्य क्षेत्र को जोड़े जाने के प्रस्ताव को किसी भी परिस्तिथि में स्वीकार  नही होंगे। प्रथम राज्य पुनर्गठन आयोग की रिपोर्ट को दरकिनार कर तत्कालीन केंद्र सरकार ने हम बुन्देलखंडवासियो को उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में बांट दिया था। आज केंद्र सरकार के पास सुअवसर है कि पूर्व में की गई भूल को सुधार कर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में विभाजित बुन्देलखंडवासियो को पुनः एक करने का कार्य किया जाये। ज्ञापन में मांग की गई कि अखंड बुंदेलखंड का निर्माण शीघ्र किया जाये। ज्ञापन भेंट करने वालो में रघुराज शर्मा, हमीदा अंजुम,वरुण अग्रवाल, गिरजाशंकर राय,उत्कर्ष साहू,,देवीसिंह कुशवाहा,कुंवर बहादुर आदिम,  हरवंश लाल,प्रेम सपेरे, नरेश वर्मा,प्रभुदयाल कुशवाहा,गोलू ठाकुर,रामगुप्ता,प्रदीप झा,विकास पुरी, अनिल कश्यप, बट्टा गुरु,  दीपक कुमार, हितेश वर्मा,आदि उपस्थित रहे।
—————-


रेलवे बोर्ड की रडार पर हैं ई-टिकट का कारोबार
बबीना में पकड़ा गया ई-टिकट का कारोबार, संचालक गिरफ्तार
तीन लाख पच्चीस हजार से अधिक के बेच चुका हैं ई-टिकट
झाँसी। रेल सुरक्षा बल और आरपीएफ की सीआईबी एजेंसी ने ई-टिकट का कारोबार पकड़ा है। इस मामले में दुकान के संचालक को गिरफ्तार कर लिया। इसके पास से लैपटॉप आदि सामग्री बरामद की गई है। संचालक करीब डेढ़ साल से इस कारोबार को चला रहा था।
रेल सुरक्षा बल के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त उमांकात तिवारी के निर्देश पर ई-टिकट का कारोबार चला रहे लोगों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत निरीक्षक डिटेक्टिव विंग एस एन पाटीदार, एएसआई वी एस राजपूत, हेड कांस्टेबल रामेश्वर सिंह, दीपक कुमार, आरपीएफ उपनिरीक्षक रविन्द्र सिंह राजावत, उपनिरीक्षक नितिन कुमार व आरक्षी बी सी अनुरागी ई-टिकट पर नजर रखे हुए थे। सूचना मिली कि बबीना थाना क्षेत्र के सागर सर्विसेज स्टेशन रोड पर खुलेआम ई-टिकट का धंधा चल रहा है। इस सूचना पर गई टीम ने वहां पर छापा मारा। छापे से वहां हड़कंप मच गया। बाद में उसे हिरासत में ले लिया। इसके बाद टीम ने गोपनीय जांच की। जांच में पाया गया कि उक्त संचालक रेलवे बोर्ड की ई-टिकट की रडार पर काफी दिनों से था।
आरपीएफ के मुताबिक संचालक के पास भविष्य की यात्रा के दो ई टिकट कुल कीमत ₹905 तथा अतीत की यात्रा के 93 ई टिकट कुल कीमत 106195/-(एक लाख छह हजार एक सों पंचानवे) पाए गए जो उसके द्वारा 5 पर्सनल यूजर आईडी पर बनाए गए थे। इसके अतिरिक्त एसबीआई एकाउंट का डिटेल्स चेक किया गया जिसमें उसके द्वारा जनवरी 2019 से आज दिनांक तक आईआरसीटीसी से 325063/- ( तीन लाख पच्चीस हजार तिरसट रुपये ) का ट्रांजेक्शन करना पाया गया। आरपीएफ के मुताबिक सागर साहू निवासी 1198 स्टेशन रोड ,बबीना थाना बबीना को गिरफ्तार कर लिया।


मुंबई में हीरोइन बनने से पहले स्टेशन पर दबोची गई तीन चचेरी बहनें
झाँसी। रेल सुरक्षा बल की टीम ने मुंबई में हीरोइन बनने का सपना लेकर जा रहे तीन चचेरे बहनों को स्थानीय रेलवे स्टेशन पर दबोच लिया। पूछताछ के बाद उनको रेलवे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।
रेल सुरक्षा बल के स्टेशन पोस्ट प्रभारी निरीक्षक ए के यादव के निर्देश पर उप निरीक्षक घनेन्द्र सिंह, सहायक उपनिरीक्षक संजय प्रताप कुशवाहा व महिला आरक्षी शकुंतला यादव के साथ पी.एफ.नंबर 2-3 पर रेलवे चाईल्ड लाईन सदस्य बिलाल उल हक, स्वेता वर्मा, रेखा आर्या के साथ गश्त पर थे, तभी इन लोगों की नजर  तीन नाबालिक लड़कियां पर गई। यह लोग आपस में वार्तालाप कर रही थी। इस आधार पर टीम वहां पहुंची और तीनों किशोरियों से झाँसी आने का कारण पूछा गया तो तीनों ने बताया कि वह अपने घर से भागकर आई हैं तथा तीनों चचेरी बहन है, तथा बताएं कि उनके पिता उनकी पढ़ाई नहीं कराना चाहते हैं। इस वजह से घर से भागकर आ गए थे। वह मुंबई में हीरोइन बनने का सपना लेकर जा रहे थे। तीनों को थाना लाया गया। यहां एक ने अपना नाम  शिवानी कुमारी (काल्पनिक), काजल व चांदनी निवासी निवासी अंबेडकर नगर टांडा उत्तर प्रदेश बताया है। बाद में लड़कियों ने अपने परिजनों का मोबाइलफोन नंबर दिया। इस पर आरपीएफ ने संपर्क किया तो परिजनों ने बताया कि वह झाँसी आ रहे हैं। कुछ देर बाद तीनों लड़कियों को रेलवे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।

घर से भागा किशोर पकड़ा
रेल सुरक्षा बल के सहायक उप निरीक्षक संजय प्रताप कुशवाहा झाँसी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नं0 04/05 पर गस्त कर रहे थे। गश्त के दौरान एक नाबालिक लड़का अकेला बैठा मिला, जिसके पास जाकर झाँसी स्टेशन पर आने का कारण पूछा गया तो घर से रूठकर भागना बताया। बाद में उसे थाना लाया गया। यहां पूछताछ की गई। पूछताछ पर उसने अपना नाम मोहम्मद दिलावर निवासी ग्राम सनकरा थाना बलियाबिलोन जिला कटियार बिहार। बाद में परिजनों का मोबाइल फोन नंबर मांगा मगर किशोर ने बता सका। कुछ देर बाद उक्त किशोर को रेलवे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।
————


डेंटल हेल्थ चेकअप कैंप का किया आयोजन
झाँसी। इंटरनेशनल जेसीआई वीक की आज जेसीआई झाँसी मनस्विनी द्वारा शानदार शुरूआत की गई । सेहत है तो जीवन है- क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है। इसी विचार के साथ जेसी आई मनस्विनी की सदस्याओं ने आज सिविल लाइंस स्थित मदर टेरेसा अनाथाश्रम में नि:शुल्क दंत चिकित्सा कैंप लगाया। इसमें आश्रम के सभी बच्चों व बुजुर्गों के साथ साथ मनस्विनी की सदस्याओं ने अपने स्वयं के व अपने बच्चों के दांतों का चेकअप करवाया । 
यह कार्यक्रम जेसीआई मनस्विनी की अध्यक्ष रजनी गुप्ता की अध्यक्षता में संपन्न हुआ। उन्होंने कहा कि दांत हमारे शरीर का अभिन्न अंग हैं। दांतों से ही बोलना, चबाना, खाना जैसे जरूरी काम होते हैं । एक में भी दिक्कत हो जाए तो हर काम में बाधा पड़ जाती है। डॉक्टर धीरज प्रकाश की देखरेख में आश्रम के सभी बच्चों व बुजुर्गों सहित मनस्विनी की सभी सदस्याओं ने अपनी परेशानियां साझा कीं व उनके उपचार की विधि पूछी  ।साथ ही आश्रम के प्रत्येक सदस्य को डेंटल किट भी दी गईं। जेसी मनीला गोयल, कल्पना खर्द,रीना अग्रवाल,  राधा अग्रवाल, अलका मित्तल इत्यादि मनस्विनी के सभी सदस्य  व आश्रम का स्टाफ मौजूद रहे । कार्यक्रम संयोजिका जेसी अलका मित्तल रहीं। सहसचिव रीना अग्रवाल ने अंत में सभी का आभार व्यक्त किया। 
————–


इमाम हुसैन को समर्पित ताबूत की जियारत कराई गई
झाँसी। नौ मुहर्रम को  “शोहादा-ए-करबला” को खिराजे अक़ीदत पेश करने के ग़मगीन अवसर पर ‘इमाम बारगाह हुसैनी’ मेवाती पुरा में मजलिसे अज़ा हुई।जिसमें सैकड़ों शोकाकुल श्रृध्दालुओं ने शिरकत की। मर्सियाख्वानी में जनाब सरदार हुसैन (बिजनौर) , इं0 काज़िम रज़ा, आबिद रज़ा और साथियों ने “ आज है शहादत हज़रते शब्बीर की- तशनादहन कुश्ता-ए-ख़ंजरो तक़दीर की” मर्सिया पढा। संचालन जनाब सैयद ज़फर आलम ने किया।
शोकपूर्ण श्रद्धांजलि करते हुऐ सैयद शहनशाह हैदर आब्दी ने कहा,” हमारे मज़हब ने मुल्क से मुहब्बत को ईमान की निशानी बताया है। अत: यह हमारी न केवल सामाजिक बल्कि धार्मिक ज़िम्मेदारी भी बन जाती है कि हम धार्मिक आयोजनों में भी ऐसे कार्यों को प्राथमिकता दें जिनसे आपसी प्रेम और विश्वास बढे साथ ही देश और समाज का  भी भला हो। ताबूते मुबारक पर पुष्पांजली अर्पित कर वीरेन्द्र अग्रवाल और सैयद शहंशाह हैदर आबदी ने साम्प्रदायिक सौहार्द की विरासत को आगे बढाया।
इस अवसर मौलाना हैदर अली गाज़ी साहब, मौलाना सैयद फरमान अली साहब, मौलाना सैयद मिक़दाद हुसैन (भोपाल)  ज़ायरसगीर मेहदी, हाजी तकी हसन,  शाकिर अली, मज़हर हसनैन, मोहम्म्द शाहिद, ज़मीर अली, रिज़वान हुसैन, ज़फर हसनैन, समर हसनैन,सलमान हैदर, अस्कर अली, मोहम्मद इदरीस, शाहरुख हुसैन, आसिफ हैदर, दानिश अली, फज़ले अली, नादिर अली, शहज़ादे अली, शाहनवाज़ अली , ताज अब्बास, अता अब्बास, मोहम्मद अब्बास,  रईस अब्बास, सरकार हैदर” चन्दा भाई”, आरिफ गुलरेज़, नजमुल हसन, ज़ाहिद मिर्ज़ा, मज़ाहिर हुसैन, ताहिर हुसैन, ज़ामिन अली, राहत हुसैन, ज़मीर अब्बास, आबिस रज़ा, सलमान हैदर, अली जाफर, अली क़मर, मुख़्तार अली, के साथ बडी संख्या में इमाम हुसैन के अन्य धर्मावलम्बी अज़ादार और शिया मुस्लिम महिलाऐं बच्चे और पुरुष काले लिबास में उपस्थित रहे। “रोयें न क्यूंकर ग़ुलाम- हो रहा मोहर्रम तमाम “ की गमगीन सदाओं के साथ नौ मोहर्रम का कार्य क्रम का समापन हो गया।
————

पांच पीढ़ियों से बना रहे हैं ताजिए
झाँसी। मुस्लिम समुदाय का श्रद्धा के साथ मनाया जा रहा है। जगह – जगह ताजियों पर पहुंचकर  अकीदत मंद फातिहा पढ़ पढ़ रहे हैं। कई स्थानों पर वर्षों से इस परंपरा को निभाया जा रहा है। इस क्रम में छोटा इमामबाड़ा में विगत पांच पीढ़ियों से ताजिए रखे जा रहे हैं।
 इस पांचवी पीढ़ी के रेहान चौधरी अंदर ओरछा गेट पर ताजिया रखते हैं। यहां प्रतिदिन पूजा पाठ होती है। लोग मुरादे मांगते हैं। और पूरी होने पर कुछ ना कुछ चढ़ाते हैं। रेहान चौधरी बताते हैं कि यह उनके पुरखे द्वारा परंपरा प्रारंभ की गई थी जो कि वर्तमान में पांच पीढ़ी गुजर जाने के बावजूद इसको निभाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सैकड़ों वर्षों से चली आ रही इस परंपरा को हिंदू और मुस्लिम आपस में गंगा जमुनी तहजीब के साथ मनाते हैं।
—————

महाराष्ट्र की बाढ़ पीड़ित छात्राओं हेतु सामग्री भेजी
झाँसी। महिला हैल्प लाइन विकास समिति की अध्यक्षा डॉ कल्पना दुबे द्वारा महाराष्ट्र की स्कूली छात्राओं के लिए दो हजार सेनेटरी पैड ट्रेन द्वारा भेजे गए।
मालूम हो कि नागपुर की बहुउद्देश्य सामाजिक संस्था बेटिया के अध्यक्ष श्रीधर आड़े द्वारा फोन से महाराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित जनपद के शांगली की वालवा तहसील की स्कूली छात्राओं के लिए सेनेटरी पैड भेजने के लिे महिला हैल्प लाइन विकास समिति की अध्यक्ष डॉ कल्पना दुबे से अनुरोध किया गया था। इस पर डॉ कल्पना दुबे ने अपने वेतन से दो हजार सेनेटरी पैड आज ट्रेन द्वारा नागपुर भेज दिए गए। जहां से अन्य राहत सामग्री के साथ उक्त सेनेटरी पैड शांगली भेजे जाएंगे। डॉ. दुबे वर्तमान में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं, बालिका सुरक्षा सभी को शिक्षा जैसे अनेक महत्वपूर्ण अभियानों में अपनी सक्रिय भूमिका निभा रही है। इस अवसर पर पूर्व जिला प्रोबेशन अधिकारी राजीव शर्मा, यू सी जैन, राजीव, शिवानी, संगीत लवानिया, अजय अरोड़ा, सुनीता दुबे, रीना शर्मा आदि लोग उपस्थित रहे हैं।
————-
प्लेटफार्म पर पकड़ा युवक, चाकू बरामद
झाँसी। राजकीय रेलवे पुलिस ने स्थानीय रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से एक युवक को पकड़ लिया। रेलवे पुलिस के मुताबिक आगरा निवासी पवन तोमर को गिरफ्तार कर लिया। इसके पास से एक चाकू बरामद किया गया।
————-
सर्प के कांटने से किसान की मौत
झाँसी। मोंठ थाना क्षेत्र के ग्राम अम्मरगढ़ निवासी श्रीमती शकुन्तला देवी खेत पर काम कर रही थी। इसी दौरान सर्प ने उसे डस लिया जिससे वह बेहोश हो गयी। बेहोशी हालात में उपचार के लिए उसे मेडिकल कालेज लाया गया। यहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।