समाचार झाँसी

द न्यूज़ यूनिवर्स

झाँसी

8 सितंबर


गणेश उत्सव पर रंगोली प्रतियोगिता ने मनमोहा
झाँसी। बुन्देलखण्ड साहित्य संगीत कला संस्थान एवं युवा ब्राह्मण महासंघ के संयुक्त तत्वावधान में गणेश उत्सव पर आज कोतवाली के निकट पत्रकार भवन में मुख्य संयोजक रवीश त्रिपाठी के संयोजन में रंगोली प्रतियोगिता का शुभारम्भ समाजसेविका श्रीमती ममता लश्करी ने गणेश जी के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित किया। मुख्य अतिथि का स्वागत संजीव शर्मा, अखिलेश पाण्डेय, रजत त्रिपाठी, महेश उपाध्याय, अंकुर अग्रवाल ने पुष्प गुच्छ भेंटकर किया। मुख्य अतिथि श्रीमती ममता लश्करी ने कहा कि समय-समय पर छात्राओं  को विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेते रहना चाहिये जिससे उनको आगे आने का मौका मिलता है एवं उनके अंदर छिपी हुई प्रतिभा उभरकर सामने आती है तथा उनका उत्साहवर्ध भी होता है।  रंगोली प्रतियोगिता में विभिन्न विद्यालयों/ संस्थाओं की छात्राओं ने भाग लेकर अपनी छिपी  हुई प्रतिभा को उजागर करते हुये आकर्षक रंगोली बनायी। प्रतियोगिता में मृदंग बजाते  गणेशजी, लक्ष्मी गणेश जी, पीपल के पत्ते पर गणेश जी, फूल पत्तीत, ओममय गणेश, स्वास्तिक, नृत्य करते गणेश जी, पार्वती जी की गोदी में बालरूप गणेश  आदि विभिन्न रंगों से रंगोली बनाकर उकेरा। निर्णायक मण्डल में श्रीमती अर्चना दुबे, श्रीमती रेखा पाण्डेय, शशि अग्रवाल, संध्या त्रिपाठी आदि रहीं। अंत में आभार व्यक्त करते हुये रवीश त्रिपाठी ने बताया कि गणेश उत्सव पर हुई विभिन्न प्रतियोगिताओं का पुरूस्का वितरण 15 सितम्बर को दोपहर 12.30 बजे पत्रकार भवन में किया जायेगा। 
—————
मरीजों को फल बांटे 
झाँसी। पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य के जन्म दिन पर प्रदेश संगठन मंत्री अरविंद वशिष्ठ व शहर महामंत्री प्रिंस कटियार के नेतृत्व में कांग्रेसजनों ने मेडिकल क्षेत्र में मरीजों को फल वितरण किया। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि अपने मंत्रित्वकाल में पूर्व केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने बुन्देलखण्ड क्षेत्र के विकास को  नये आयाम देते हुये बुन्देलखण्ड विशेष पैकेज, केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय, रेल कोच फैक्ट्री, सैनिक स्कूल, मेडिकल कालेज को एम्स का दर्जा आदि जैसी अनेकों सौगातें दी और आज भी बुन्देलखण्ड  के विकास के लिये सतत प्रत्यनशील है। वक्ताओ  ने उनके सुखद और दीर्घायु जीवन की कामना की। इस अवसर पर अमीरचन्द्र आर्य, कांग्रेस सेवा दल के जिलाध्यक्ष विनोद कुमार वर्मा, शमीम राईन, विनय उपाध्याय, जितेन्द्र कुमार, राजकुमार यादव, वासिम उमर, अखिल परिहार एवं जीतू आदि कांग्रेसी उपस्थित रहे। 
————–
नागरिक सुरक्षा की बैठक में मोहर्रम व जलविहार में शांति व्यवस्था की रणनीति बनाई 
झाँसी। झांनागरिक सुरक्षा कोतवाली प्रभाग पोस्ट 10 की बैठक पोस्ट वार्डन सुदर्शन शिवहरे की अध्यक्षता में हुई जिसमें मोहर्रम एवं जलविहार शोभायात्रा में शांति व्यवस्था बनाने हेतु वार्डनों की ड्यूटी की रणनीति बनाई गई। क्षेत्र के मंदिर, मस्जिद, पेट्रोल पम्प, धर्मशाला, होटल व विद्यालय आदि सार्वजनिक स्थलों की सूची को अंतिम रूप दियागया। डिवीजनल वार्डन विनय सिजरिया ने बताया कि स्वच्छ सर्वेक्षण में झांसी को नम्बर  स्थान दिलाना है। जिसके लिए वार्डन जगह-जगह पहुंचकर नागरिको  से फीडबैक के प्रश्नों के उत्तर मोबाइल एप पर उत्साह के साथ करवा रहे है। स्वच्छ सर्वेक्षण  में पोस्ट 10 की सहभागिता प्रशंसनीय रही है। इस मौके पर आईसीओ कौशल किशोर गुप्ता, मनमोहन मनु, राकेश पांचाल, सोनू केसरी, संजय गुप्ता, प्रतीक वर्मा, संजीव गुप्ता उपस्थित रहे। 
————-
इलाहाबाद बैंक का इंडियन बैंक के साथ विलय के विरोध में प्रदर्शन 
झाँसी। वित्त मंत्री भारत सरकार ने कुछ बैंकों के आपसी विलय की घोषणा की थी जिसें आश्चर्यजनक रूप से बैकिंग इतिहास के प्राचीनतम बैंक एवं उत्तर प्रदेश आधारित इलाहाबाद बैंक को अपेक्षाकृत छोटे और  नवीन बैंक में विलय की घोषणा की है जिसके साथ ही देशभर में इलाहाबाद बैंक के समस्त वर्तमान में कार्यरत एवं सेवानिवृत्त कर्मचारियों/ अधिकारियो  में रोष व्याप्त हो गया एवं देशभर में जगह-जगह धरने एवं प्रदर्शन शुरू हो गये एवं लगातार जारी है। 
इलाहाबाद बेंक के बोर्ड की एक सबकमेटी मीटिंग आयोजित है जिसके विरोध में इलाहाबाद बैंक बचाओ संघष मोर्चा के केन्द्रीय नेतृत्व के आह्वान पर सायंकाल 5.30 बजे इलाहाबाद बैंक के क्षेत्र निरीक्षण कार्यालय/मुख्य शाखा सिविल लाइन्स झांसी के समक्ष एकत्र हुए एवं नारेबाजी के साथ जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में बोलते हुये संयोजक अशोक कुमार महावर ने बताया कि इलाहाबाद बैंक  देश का सबसे पुराना राष्ट्रीयकृत बैंक है। इसकी प्रथम शाखा 24 अप्रैल 1865  को इलाहाबाद बैंक में खोली गई। तत्पश्चात वर्ष 1888 में इसकी दूसरी व तीसरी शाख झांसी व कानपुर मे  खोली गई। वर्ष 1923 में व्यवसायिक कारणों से इलाहाबाद बैंक का मुख्यालय इलाहाबाद से स्थानान्तरित कर कोलकाता ले जाया गया। वर्तमान में इलाहाबाद बैंक लगभग 3229 शाखायें पूरे देश में जनता को सेवायें प्रदान कर रही है। इसी प्रकार ऑल इंडिया इलाहाबाद बैंक अधिकारी संघ के मण्डलीय अध्यक्ष राजेश सोनकर, एवीएसए के अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह कुशवाहा, सेवानिवृत्त अधिकारी/ कर्मचारी संघ के मंत्री गोपाल अग्रवाल सहित अन्य वक्ताओ  ने कहा कि इलाहाबाद बैंक का विलय यहां के अधिकारियों/कर्मचारियों पर अन्याय के साथ प्रदेश एवं देश की जनता की धार्मिक भावनाओं का अपमान होगा। अत: विलय की स्थिति में इलाहाबाद बैंक का नाम यथावत रहना चाहिये एवं इंडिय बैंक का विलय इलाहाबाद बैंक में करने का निर्णय सरकार द्वारा किया जाना चाहिये। 
प्रदर्शन में राजकुमार सहायक महाप्रबन्धक, संजय पुरवार,दीपेश माहौर, पीसी बिजौलिया, अमित साहू, अनूप सक्सेना, अशोक कुमार, अजय सिंह राठौर, वीरेश श्रीवास्तव, बरखा, हरकिशन, प्रिया निगम, संजयसिंह, भुवनेश बाल्मीकि, प्रमोद परेता, परमानंद सूत्रकार, शशिकांत शुक्ला, जयप्रकाश निगम, चन्द्रप्रकाश, भूषण कुमार, जया शक्यवार, संध्या सिंह, विकास दुबे, गिरीश श्रीवास्तव, हरप्रसाद, सूरज सिंह, दिनेश सेन आदि उपस्थित रहे।