समाचार झाँसी व अन्य

द न्यूज यूनिवर्स

झाँसी

8 सितंबर

.
मोहर्रम की मजलिसें – इमाम हुसैन के सेनापति हजरत अब्बास को समर्पित की गईं 
वफादारी हजरत अब्बास की विरासत
झाँसी। आज शहर झांसी में आठ मोहर्रम की मजलिसें-इमाम हुसैन के सेनापति हज़रत अब्बास को समर्पित की गईं। विशेष मजलिस “हसन मंज़िल” इतवारी गंज में सुबह ग्यारह बजे आयोजित की गई, जिसमें “अलमे मुबारक” की ज़ियारत और तबर्रुके  हज़रते अब्बास (लन्गर) का  प्रबन्ध किया गया। जिसमें हजारों श्रृध्दालुओं ने शिरकत की।मर्सियाख्वानी इं0 काज़िम रज़ा, आबिद रज़ा, सईदुज़्ज़मां, अस्करी नवाब, तक़ी हसन और साथियों ने की और “ जब चला अपने वतन से बादशाहे करबला” मर्सिया पढा। 
सात वर्षीय वज़ाइम अब्बास और ताहा अब्बास ने रुबाई ”कहती थी सकीना क़त्ले बाबा देखा”  पढ़ कर सबको आश्चर्य चकित कर दिया। संचालन करते हुये सैयद शहनशाह हैदर आब्दी ने सलाम “आने न पाये घर में मेरे कोई बेवफा- दीवारो दर पे इसलिये अब्बास लिख दिया” पढकर श्रृध्दांजली अर्पित की। पेश ख़ानी, जनाब फैज़ अब्बास, अल्बाश आब्दी, आबिद रज़ा और साजिद मेहदी, ने कर कलाम पढ़े। विशेष अतिथि के रूप में (नई दिल्ली), से विशेष निमंत्रण से पधारे मौलानाअली हैदर ग़ाज़ी ने,” शिक्षा पर ज़ोर देते हुऐ रसूले ख़ुदा की हदीस “ गहवारे (पालने) से क़ब्र के मुहाने तक इल्म हासिल करो” और हज़रत अली की हदीस, “ जाहिलियत (अज्ञान और अशिक्षा) सबसे बड़ी समस्या है” बयान की और कहा हम कामयाब तभी होंगे, जब हम शिक्षित होंगे और विलायते रसूल और अली को समझें तभी दुनिया के साथ दीनी एतबार से भी मजबूत होंगे।“ 
इसके बाद मौलाना साहब ने हज़रत अबूल्फ़ज़लिल अब्बास के बारे में बताया कि वली-ए-ख़ुदा हज़रत अली के बहादुर पुत्र थे, जिन्हें हज़रत अली ने ख़ुदा से विशॆष दुआ के बाद प्राप्त किया था ।आप बाफज़ीलत,ज्ञानी, आबिद, ज़ाहिद, फ़क़ीह और अल्लाह से अधिक भय रखने वाले थे। आसमानी निर्देश के तीन आफताबों इमाम अली, इमाम हसन, और इमाम हुसैन से परवरिश पाई थी  अत: न केवल आप विद्वान और बहादुर थे बल्कि इतने ख़ूबसूरत थे आपको “क़मरे बनी हाशिम” अर्थात हाशिम के घराने का चांद कहते हैं। वफादारी हज़रत अब्बास की विरासत है। हमें उनकी बहादुरी और वफादारी से शिक्षा लेकर मुल्क क़ौम और समाज का भला करना चाहिए। इसके पश्चात मौलाना ने हज़रत अब्बास की मुश्किलों और अत्याचारों का वर्णन किया। और इमामे ज़ैनुलआबेदीन के  कथन को नक़्ल करते हुऐ कहा: “ख़ुदा मेरे चचा अब्बास पर अपनी रहमत नाज़िल करे उन्होंने राह खुदा में अपनी जान को निसार करके, महान युद्ध प्रदर्शन करके अपने भाई पर फिदा हो गए। यहाँ तक कि उनके दोनों बाज़ू अल्लाह की राह में कट गए। जिससे उपस्थित जन समुदाय शोकाकुल हो गया। इसी ग़मगीन माहौल में “हाय-हुसैन, प्यासे हुसैन। हाय सकीना- हाय प्यास।“ की मातमी सदाओं के साथ “अलमे मुबारक” की ज़ियारत कराई गई। नौहा-ओ-मातम अंजुमने सदाये हुसैनी के मातम दारों ने किया। नौहा ख़्वानी सर्वश्री क़ायम रज़ा, माहिर रज़ा, अब्बास हैदर अली समर, अनवर नक़्वी, तशब्बर बेग, आबिद रज़ा ने की । मातमी जुलूस बरामद हुआ । संचालन सैयद अता अब्बास आब्दी ने और आभार सग़ीर मेहदी ने ज्ञापित किया। इस अवसर सर्व श्री वीरेन्द्र अग्रवाल, शाकिर अली,  रईस अब्बास, सरकार हैदर” चन्दा भाई”, नज़र हैदर “फाईक़ भाई”, सलमान हैदर, नज्मुल हसन, ज़ाहिद मिर्ज़ा, मज़ाहिर हुसैन, आलिम हुसैन, ताहिर हुसैन, ज़ीशान अमजद, राहत हुसैन, ज़मीर अब्बास, अली जाफर, काज़िम जाफर,नाज़िम जाफर, नक़ी हैदर, वसी हैदर, अता अब्बास, क़मर हैदर, शाहरुख़, ज़ामिन अब्बास, ज़ाहिद हुसैन” “इंतज़ार””, हाजी कैप्टन सज्जाद अली, जावेद अली, अख़्तर हुसैन, नईमुद्दीन, मुख़्तार अली, ताज अब्बास, ज़ीशान हैदर, अली क़मर, फुर्क़ान हैदर, निसार हैदर “ज़िया”, मज़ाहिर हुसैन, आरिफ रज़ा, इरशाद रज़ा, ग़ुलाम अब्बास, असहाबे पंजतन, जाफर नवाब के साथ बडी संख्या में इमाम हुसैन के अन्य धर्मावलम्बी अज़ादार और शिया मुस्लिम महिलाऐं बच्चे और पुरुष काले लिबास में उपस्थित रहे।   
———


साझा चूल्हा का किया आयोजन
झाँसी। रोटरी क्लब झाँसी रानी के सौजन्य से तिलक मार्किट इलाइट चौराहा पर साँझा चूल्हा कर आयोजन किया  गया।  इस कार्यक्रम के तहत गरीब और असहाय जनों को भोजन  वितरण किया जाता है। यह कार्यक्रम क्लब का स्थायी कार्यक्रम जो पिछले डेढ़ वर्ष से निर्विघ एवं निर्विवाद रूप से चल रहा  है। इस कार्यक्रम के संजोयक उपासना बब्बर, सजनीत परवार एवं राजेश दूबे है। आज कार्यक्रम में मनोज भारतीय, रेनू भारतीय, गुड्डन अग्रवाल, आशीष बिरथरे, राजेश दुबे, आदि उपस्स्थित रहे।
————-


ऑन स्पॉट ड्राइंग एण्ड पेण्टिंग प्रतियोगिता में बच्चों ने दिखाया हुनर
झाँसी। महिला कल्याण संगठन द्वारा मण्डल में कार्यरत अराजपत्रित रेल कर्मचारियों के बच्चों के लिये प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष ड्राइंग एण्ड पेण्टिंग प्रतियोगिता का आयोजन मण्डल के पांच शहरों झाँसी, ग्वालियर, बांदा, ललितपुर व उरई में किया गया। प्रतियोगिता का आयोजन तीन आयु वर्ग प्रथम ग्रुप- 7 से 9 वर्ष, द्वितीय ग्रुप- 9 से 11 वर्ष तथा तृतीय ग्रुप- 11 से 13 वर्ष में किया गया । प्रतियोगियों को ड्राइंग सीट संगठन द्वारा वितरित की गई। ड्राइंग का विषय प्रतियोगिता के प्रारंभ में बताया गया। प्रत्येक आयु वर्ग के लिये प्रतियोगिता का विषय अलग-अलग थे, जिसमें से किसी एक विषय पर प्रतियागी को ड्राइंग करनी थी। 
प्रतियोगियों ने प्रत्येक ग्रुप के अनुसार दिये गये विषयों मे से एक विषय पर चित्रकारी की। प्रतियोगिता के बाद में बच्चों द्वारा बनाई गई ड्राइंग की सरहाना की गई तथा उन्हें 15 सितंबर को होने वाली निबन्ध प्रतियोगिता में उपस्थित रहने के लिये कहा गया। निबन्ध प्रतियोगिता का आयोजन झाँसी मण्डल के तीन शहरों झांसी, ग्वालियर तथा बांदा में किया जाना है। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विजेता प्रतियोगियों का नाम संगठन द्वारा बाद में घोषित किया जायेगा, जिसकी सूचना उन्हे मोबाईल द्वारा दी जायेगी। झांसी में आयोजित प्रतियोगिता में संगठन की अध्यक्षा श्रीमती चारू माथुर, सचिव विजेता श्रीवास्तव, सह-सचिव मोनिका गोयल, श्रीमती गौरी यादव, श्रीमती आकंक्षा श्रीवास्तव एवं श्रीमती सरिका तिवारी उपस्थित रहीं, जिन्होनें प्रतियोगिता के दौरान बच्चों का उत्साह वर्धन किया तथा प्रतियोगिता का सफल आयोजन कराया।
——————
बांदा रेलवे स्टेशन पर चलाया चेकिंग अभियान
झाँसी। बांदा स्टेशन पर वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक डॉ जितेन्द्र कुमार के निर्देशानुसार एवं पीआरओ मनोज कुमार सिंह के कुशल मार्गदर्शन एवं सीटीआई अजय कुमार के सुपरवीजन में बस रेड का आयोजन किया गया जिसमे विभिन्न गाडियों मे 33 मामले पकडे गये। जिनसे रूपये 11430/–वसूल किए गये। इस अभियान में बी के शिवहरे , मंजूर अहमद, जुगल किशोर, कुलदीप कुमार, धर्मप्रकाश ने भरपूर सहयोग किया। इसमें जीआरपी व आरपीएफ का स्टॉफ शामिल रहा है।
—————–


ताजियों व गणेश मूर्ति विसर्जन शोभायात्रा को लेकर प्रशासन गंभीर
आपस में सामंजस्य बनाकर मनाए त्यौहार: जिलाधिकारी
विसर्जन के जुलूसों की गतिविधियों पर रखी जाएगी नजर: एसएसपी
कई स्थानों पर लगाए जाएंगे सीसीटीवी कैमरे
झाँसी। मोहर्रम पर ताजिया व गणेश मूर्ति विसर्जन शोभायात्रा को लेकर प्रशासन इस बार काफी गंभीर है। संयोग से दोनों पर्व के होने के कारण शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस प्रशासन कोई कसर छोड़ना नहीं चाहता।
जिलाधिकारी शिवसहाय अवस्थी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ ओ पी सिंह ने ताजिएदारों व मूर्ति विसर्जन शोभायात्रा कमेटी के सदस्यों की बैठक लेकर शांतिपूर्ण माहौल में पर्व मनाए जाने की अपील की। इस बार 9 व 11 मूर्ति विसर्जन होना है। जबकि 10 सितंबर को मोहर्रम पर ताजिया उठाए जाएंगे। सबसे खास बात यह है कि लक्ष्मी तालाब में मूर्ति का विसर्जन किया जाता है तो वहीं लक्ष्मी तालाब (करबला) में ताजियों को सुपुर्द- ए-खाक किया जाता है। अब ऐसे में प्रशासन इस बार गंभीर संकट में पड़ा हुआ है कि एक ही स्थान पर मोहर्रम के ताजिया व गणेश मूर्ति विसर्जन का कार्यक्रम है। इसे देखते हुए प्रशासन ने शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए कमर कस ली है।
अफसरों ने कहा कि निर्धारित मार्गों पर ही व शोभायात्रा निकाली जाए। कोई भी नई परंपरा न पड़ने पाए। साथ ही ताजिया व गणेश प्रतिमाओं के संबंध में जो वार्ता की जा रही है जो भी समस्या है। इन समस्याओं को लेकर आगामी त्योहारों के सीजन हैं शांति पूर्वक एवं सौहार्द के साथ मनाए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर ओपी सिंह ने बताया कि दोनों आयोजनों को लेकर जो आयोजक गण है। यह सेंटर पीस कमेटी मैं जो लोग थे जनपदीय स्तर पर एसएसपी और जिलाधिकारी के माध्यम से बैठकर बातचीत की गई उनकी जो समस्याएं थी उनको नोट किया गया। इसके बाद विभागीय अधिकारियों से बात करके उसको दूर किया जाएगा, जिला प्रशासन द्वारा पैदल जाकर भ्रमण करके पूरे रूट को जहां जहां पर आयोजन है उनका परीक्षण करेंगे और देखेंगे जो भी कमियां होंगी उसको दूर करेंगे जो प्रतिमाओं का विसर्जन है उसकी पूरी तैयारी कर ली है। हर जुलूस को लेकर डियूटिया लगा दी गई है जहां पर विसर्जन स्थल है वहां पर भी डियूटिया के लगा दी गई। बैठक में एसपी सिटी श्रीप्रकाश द्विवेदी, एसपी देहात राहुल मिठास, नगर आयुक्त मनोज कुमार, एडीएम नागेन्द्र शर्मा आदि लोग उपस्थित रहे।

चप्पे-चप्पे पर नजर आएगा फोर्स
मूर्ति विसर्जन व ताजिया के जुलूस को लेकर पुलिस पहले से ही एलर्ट हो गई। जुलूस के दौरान भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किया जा रहा है। जिन रास्ते से जुलूस निकालना है, उन रास्तों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं ताकि गतिविधियों के बारे में पता चल सके। इसके अलावा सादा लिवास में जवानों की ड्यूटी लगाई गई हैं।

जुलूस  परम्परागत ढंग से व समय से निकालें
अफसरों ने कहा कि जुलूस परम्परागत ढंग से व समय से निकालें ताकि कोई असुविधा न हो। हर्ष फायरिंग किसी भी दशा में न होने पाए। हाकी, स्टिक, धारदार हथियार, डण्डा आदि का प्रयोग पण्डाल के पास या प्रतिमा विसर्जन जुलूस/ताजिया जुलूस में शामिल न करें। पण्डालों में ज्वलन जैसे सिन्थेटिक कपड़े, गैस सिलेण्डर, पेट्रोल एवं डीजल आदि का प्रयोग न करें। प्रतिमा विसर्जन के दिन रास्ते में पड़ने वाले किसी समुदाय के स्थलो के पास रुक कर हूटिंग, उत्तेजक नारेबाजी या अन्य हिंसात्मक कार्य न करें। उल्लंघन करने सम्बंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
——————
.
पत्रकारों के हित की लड़ाई के लिए संयुक्त मीडिया क्लब का आंदोलन आज
झाँसी। लगातार कई दिनों से प्रदेश में पत्रकारों के ऊपर फर्जी मामले दर्ज हो रहे हैं। जिसको लेकर संयुक्त मीडिया क्लब ने सर्किट हाउस में एक बैठक का आयोजन किया। बैठक में सर्वसम्मति से 9 सितंबर को एक बड़े आंदोलन करने की घोषणा की गई। बैठक के दौरान ही वरिष्ठ पत्रकार जावेद असलम, आमिर खान और तारीख ने संयुक्त मीडिया क्लब की सदस्यता ग्रहण की। क्लब के अध्यक्ष राम नरेश यादव ने नए पदाधिकारियों को बड़ी जिम्मेदारी देते हुए जिला महासचिव जावेद असलम को बनाया वहीं, आमिर जिला सचिव बनाए गए।
लगातार कई दिनों से प्रदेश भर में पत्रकारों के खिलाफ फर्जी मामले दर्ज होने से सभी मीडिया कर्मियों में रोष व्याप्त है। जिसको लेकर संयुक्त मीडिया क्लब ने एक बैठक का आयोजन किया। बैठक में सभी पदाधिकारियों ने अपनी अपनी राय रखी। पदाधिकारियों और सदस्यों के विचार सुनने के बाद संयुक्त मीडिया क्लब के अध्यक्ष राम नरेश यादव ने सर्वसम्मति से आंदोलन करने का निश्चय किया। सभी पत्रकार सुबह 10 बजे से एक दिवसीय आंदोलन का आयोजन करेंगे। इसी दौरान संगठन के जिलाध्यक्ष प्रमोद गौतम के सुझाव पर वरिष्ठ पत्रकार जावेद असलम को जिला महासचिव घोषित किया गया। बैठक के दौरान महासचिव दीपक चंदेल, उपाध्यक्ष पुष्पेंद्र यादव, संगठन मंत्री बीके कुशवाहा, आय व्यय निरीक्षक अश्विनी मिश्रा, सचिव दीपक जोहरी, बुंदेलखंड प्रभारी बालेंद्र गुप्ता और महानगर अध्यक्ष इमरान खान सहित सभी पदाधिकारी और सदस्य मौजूद रहे।
—————

घर से भागा किशोर पकड़ा
झाँसी। रेल सुरक्षा बल की टीम ने घर से भागे एक किशोर को प्लेटफार्म से पकड़ लिया। पूछताछ के बाद उसे रेलवे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।
रेल सुरक्षा बल के उप निरीक्षक घनेन्द्र सिंह व सहायक उप निरीक्षक संजय प्रताप कुशवाहा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नं0 02/03 पर गश्त कर रहे थे। गश्त के दौरान एक नाबालिक लड़का अकेला बैठा मिला। पूछा गया तो उसने बताया कि वह घर से भागकर आया है। बाद में उसे थाना लाया गया। पूछने पर उसने अपना नाम संजय रजक निवासी बनयाने थाना बलदेवगढ़ जिला टीकमगढ़ म.प्र. बताया। बाद में उक्त किशोर को रेलवे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।