समाचार , 10 अगस्त

द न्यूज़ यूनिवर्स

झाँसी

10 अगस्त


पूंछ व एरच थाना का निरीक्षण
झाँसी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ ओ पी सिंह ने एरच थाना का निरीक्षण किया. इसमें थाना परिसर की साफ सफाई ,अभिलेखों का रखरखाव, मालखाना, शस्त्रों का रखरखाव अभिलेख, कम्प्यूर कक्ष, भोजनालय, आवासीय आरक्षी बैरक आदि को चेक किया। निरीक्षण के दौरान पाई जाने वाली कमियों को दूर करने, अभिलेखों को अध्यावधिक करने, आईजीआरएस के प्राथर्नापत्रों का शीघ्र निस्तारण व साफ सफाई और बेहतर करने के निर्देश दिए हैं।
वहीं, पूंछ थाना का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मुकदमाती मालों का निस्तारण, टॉपटेन अपराधियों, माफिया और गुंडा तत्वों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसके अलावा निरीक्षण में जो कमियां मिली है, उन कमियों को दूर करने के निर्देश दिए गए हैं।
—————
.
टूटते परिवारों को पुलिस ने बचाया,हंसीखुंशी घर गए दम्पति
झाँसी। टूटते परिवारों को बचाने के लिए पुलिस विभाग द्वारा शुरु किए गए प्रयासों का बेहतर परिणाम सामने आ रहा है। पुलिस ने रविवार का आयोजित परामर्श केन्द्र में दो परिवारों को टूटने से बचा लिया। आपसी विवाद के कारण एक दूसरे से दूरियां बनाकर दम्पति को फिर समझाईश के जरिए आपस में मिला दिया।
रविवार को महिला थाना परिसर में महिला परामर्श केन्द्र का आयोजन किया। इस केन्द्र में सात मामले सामने आए हैं। इनमें दो प्रकरण काऊंसलिंग के लिए गए थे। एक दंपत्ति को समझाईश देकर उनके बीच समझौता कराया गया। पति-पत्नी हंसीखुशी एक दूसरे के साथ रहने को राजी हो गए। वहीं दो प्रकरण में अलगाव हुआ और दो प्रकरणों में पत्नियां पति के साथ नहीं रहना चाहती है। केन्द्र में पति-पत्नी को समझाईश देने के लिए काउंसलर बुलाए गए थे। काउंसलरों ने प्रकरणों की सुनवाई गई। पति-पत्नी के बीच छोटी-छोटी बातों को लेकर विवाद हुआ था जिससे उनके बीच दूरियां बन गई थी। दम्पति को समझाईश दी गई और भविष्य में एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करते हुए साथ में रहने की सलाह दी गई।केन्द्र में काउंसलर नीति शास्त्री, डॉ आलया एजाज, शशि प्रभा मिश्रा, महिला थाना प्रभारी निरीक्षक पूनम शर्मा, महिला कांस्टेबल किरन दुबे आदि लोग शामिल रहे हैं।

एक ऐसा भी था मामला
परिवार परामर्श केन्द्र में महिला ने शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें उसने पति के बाहर प्रेम प्रसंग चलने व परेशान करने का आरोप लगाया। मामला जब परिवार परामर्श केन्द्र आया तो महिला के बार-बार मायके जाने से उनके बीच विवाद की बात सामने आई। काउंसलरों ने उनके बीच समझौता कराया और उनको मिलजुलकर रहने की समझाईश दी गई।  एक महिला ने अपने पति के खिलाफ आए दिन विवाद करने की शिकायत दर्ज कराई थी। काउसलिंग में दोनों पक्षों को सुना गया जिसमें उनके बीच छोटी-छोटी बातों को लेकर विवाद होने की बात सामने आई जिनको आपसी रजामंदी से भी सुलझाया। एक दम्पति के बीच सोशल मीडिया को लेकर विवाद चल रहा था। पत्नी अक्सर फेसबुक दूसरी साइडों में व्यस्त रहती थी और घर के कामों में ध्यान नहीं देती थी। मामला जब परिवार परामर्श केन्द्र पहुंचा तो दोनों पक्षों को समझाईश दी गई।
————-


सड़क हादसों में तीन की मौत
झाँसी। अलग – अलग स्थानों पर हुई सड़क दुर्घटनाओं में सर्राफा व्यापारी समेत तीन लोगों की मौत हो गई। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।
बबीना थाना क्षेत्र के सर्राफा बाजार में रहने वाले वीरेन्द्र सोनी का मां पीताम्बरा नाम से ज्वैलरी की दुकान है। बीते रोज वह ज्वैलरी संबंधित काम से मध्य प्रदेश के करैरा गया था। वहां से लौटकर शाम को स्कूटी लेकर घर जा रहा था। रक्सा थाना क्षेत्र के ग्राम सिमराहा के पास विपरीत दिशा से तेज गति में आ रहे अज्ञात वाहन ने स्कूटी में जोरदार टक्कर मार दी जिससे वह घायल हो गया। घायल अवस्था में उपचार के लिए उसे मेडिकल कालेज लाया गया। यहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।
वहीं, महोबा के स्टेशन बजरिया के पास रहने वाले बद्री प्रसाद और ललितपुर क्षेत्र में रहने वाले मुन्ना चौबे को सड़क हादसे में घायल अवस्था में उपचार के लिए मेडिकल कालेज लाया गया। उपचार के दौरान दोनों ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।
————–

Good work
गांजा की तस्करी करते पकड़ी गई दो महिलाएं
विशाखापट्नम से दिल्ली ले जाया जा रहा था गांजा
बरामद गांजा की कीमत अंर्तराष्ट्रीय बाजार में है तीन लाख
झाँसी। राजकीय रेलवे पुलिस ने स्थानीय रेलवे स्टेशन पर दो महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से पकड़े गए ट्राली बैग में 12 किलो गांजा रखा हुआ था। यह गांजा विशाखापट्नम से दिल्ली ले जाया जा रहा था। बरामद गांजा की कीम अर्न्तराष्ट्रीय बाजार में तीन लाख रुपया आंकी गई है। गिरफ्तार की गई दोनों महिलाओं को अदालत में पेश किया। वहां से उनको जेल भेजा गया।
अपर पुलिस महानिदेशक रेलवे के निर्देश पर जीआरपी थाना प्रभारी निरीक्षक अजीत कुमार सिंह, वरिष्ठ उपनिरीक्षक विनय कुमार साहू, उपनिरीक्षक संतोष कुमार, हेड कांस्टेबल शिव सिंह, कांस्टेबल विकास सेंगर, महिला आरक्षी प्रभा मिश्रा बीती रात स्थानीय रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध लोगों की तलाश में लगे हुए थे। सूचना मिली कि प्लेटफार्म नंबर 4/5 पर दो महिलाएं ट्राली बैग लेकर खड़ी हैं। इन ट्राली बैग में गांजा रखा है। दोनों काफी देर पहले यहां पर ट्रेन को बदला है। वह अब दिल्ली जाने की फिराक में है। इस सूचना पर गई टीम ने घेराबंदी कर दोनों महिलाओं को पकड़ लिया। थाना लाकर गहराई से पूछताछ की। रेलवे पुलिस के मुताबिक गुड़गांव निवासी मोना और दिल्ली निवासी सुनीता देवी को गिरफ्तार कर लिया। दोनों के पास से मिले ट्राली बैग से 11 किलो 800 ग्राम गांजा बरामद किया गया।

कैरियर के रुप में करती हैं काम
दोनों महिलाओं ने बताया कि वह कैरियर के रुप में काम करती है। उन्हे फोन करके विशाखापट्नम में बुलाया जाता है। जैसे ही वह प्लेटफार्म पर पहुंची और एक व्यक्ति ने कहा कि इस ट्राली बैग को दिल्ली देना है। इसके बाद वह ट्राली बैग लेकर ट्रेन में सवार हो जाती है। दिल्ली पहुंचने पर फोन पर ही संबंधित व्यक्ति को स्थान पर बुलाकर ट्राली बैग को हवाले कर दिया जाता है। एक कैरियर के रुप में पांच हजार कैश मिलता है।अब तक वह दो बार इस तरह का काम कर चुकी है।

गांजा तस्करी में बच्चे का भी होता हैं इस्तेमाल
पकड़ी गई एक महिला तीन साल के बच्चे को लिए हुए थी। मोना नामक महिला ने बताया कि उसका पति दिल्ली में मजदूरी करता हैं मगर मजदूरी में इतना पैसा नहीं मिलता है जिससे परिवार का भरण पोषण कर सके। मजबूरी होकर इस तरह का काम किया जाता है। वह अपने तीन साल के बेटा को लेकर विशाखापट्नम गई थी। वहां एक युवक से मुलाकात हुई और जनरल टिकट देकर उसे ट्रेन में बैठा दिया था। साथ ही ट्राली बैग को दिल्ली में देने की बात कही गई थी।
————-


अंतिम सोमवार व बकरीद आज, पुलिस सतर्क
शहर में होने वाली गतिविधियों पर नजर रखने के लिए लगाए गए कैमरे
झाँसी। सावन के अंतिम सोमवार व बकरीद को लेकर पुलिस ने अब अपनी तैयारी पूरी कर ली है। खुराफातियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ मुचलका पाबंद की कार्रवाई की जा रही है। सबसे ज्यादा जलाभिषेख मढ़िया मोहल्ले में स्थित मंदिर में होता है। इसके लिए सीओ सिटी ने पूरी व्यवस्था कर ली है। इसके अलावा मिश्रित आबादी वाले इलाके में पुलिस फोर्स तैनात किया गया।
सावन के आखिर सोमवार और ईद को लेकर पुलिस ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। मिश्रित आबादी वाले इलाके में पुलिस फोर्स तैनात किया जा रहा है। इतना ही नहीं बाहरी जिलों से पुलिस फोर्स भी आ गया है। पुलिस और नगर निगम कर्मचारियों के बीच में अच्छा तालमेल रहेगा। नगर निगम के कर्मचारी और पुलिस कर्मियों के पास एक दूसरे के नंबर रहेंगे। जहां भी जरुरत होगी नगर निगम के सफाई कर्मचारी तत्काल वहां पहुंच जाएंगे। गोविन्द चौराहा स्थित मढ़िया मोहल्ले में मंदिर लोग जलाभिषेक करने जाएंगे। यहां से कुछ दूरी पर मरकजी मस्जिद है। यहां मस्जिद के लिए नमाजी भी जाएंगे। यहां पुलिस व पीएसी तैनात की गई है। इसके अलावा संवेदनशील इलाके में पुलिस तैनात किया जा रहा है। वहीं, मिश्रित आबादी वाले इलाके में पुलिस फोर्स भी तैनात कर दिया गया।

कई स्थानों पर लगाए गए कैमरे,
ईद व आखिर सोमवार को मद्देनजर पुलिस ने भी अपनी व्यवस्था पूरी कर ली है। शहर में होने वाली गतिविधियों पर नजर रखने के लिए कैमरे लगाए गए हैं। इसके अलावा जलाभिषेक करने वाले लोगों पर नजर रखी जा रही है। बताते हैं कि मरकजी मस्जिद और मढ़िया मोहल्ला पास -पास में है इसलिए यहां पर कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों के माध्यम से होने वाली गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी। इसी तरह गोविन्द चौराहा आदि स्थानों पर कैमरे लगाए गए हैं।

.
चाइल्ड लाइन ने यात्रियों को किया जागरुक
झाँसी। रेलवे चाइल्ड लाइन कोऑर्डिनेटर बिलाल उल हक व उनकी टीम द्वारा ईद, रक्षाबंधन व 15 अगस्त के मद्देनजर  स्टेशन पर यात्रियों को जागरूक किया गया। साथ ही कहा गया कि आप लोग यात्रा करते समय किसी भी व्यक्ति की दी हुई चीज ना ले हो सकता है कि वह व्यक्ति जहर खुराना हो व किसी अनजान व्यक्ति से मित्रता ना करें । इसके अलावा कहा गया अपने बच्चों को साथ रखें उन्हें कहीं जाने ना दें । अगर आपको कुछ भी गलत लगता है, तो 100,182,1098 पर कॉल करके जानकारी दे सकते हैं । रेलवे चाइल्ड लाइन बच्चो के लिए 24 घंटे काम करता है। इस अवसर पर रेलवे चाइल्डलाइन टीम से ललित कुमार, राखी यादव, आलोक कुमार, रेखा आर्य, श्वेता वर्मा, संदीप सिंह, आदि लोग उपस्थित रहे ।
—————-


आखिरी सफर वाहन जनता के सुपुर्द
झाँसी। जमीयतउलमा-ए-हिन्द की एक बैठक अध्यक्ष मौलाना आमिल कासमी की अध्यक्षता में हुई। इसमें वक्ताओं ने कहा कि हमें आपसी भाईचारा देश में कायम करना है। एक दूसरे के सुख-दुख में शामिल होकर देश के उत्थान के लिए काम करना है। जाति- धर्म तो भूलकर इन्सानियत का पैगाम जन-जन तक पहुंचाना है। इस अवसर पर मकसूद अख्तर ने एक शव वाहन (आखिरी सफर) जनता के सुपुर्द किया गया। बैठक में नूर अहमद मंसूरी, अब्दुल मजीद, याकूब अहमद मंसूरी, शाकिर भाई, मौलबी अजीम, मुफ्ती खालिद नदबी, हाफिज नईम, कारी आसिफ, अशफाक भाई, हाजी अब्दुल अजीज, हाजी अब्दुल हमीद, मौलाना रिजवान, इब्राहिम, डॉ आबिद, तल्हा कल्लू, मोहम्मद अय्यूब राईन आदि उपस्थित रहे। संचालन शहर काजी मुफ्ती मोहम्मद साबिर अंसारी व आभार मौलाना सैफउद्दीन ने किया।